Punjab Attacked by Terrorists


पंजाब फिर से घिरा उग्रवाद में 


मोदी जी, पंजाब के दीनानगर में आतंकी हमला।   शेर की दहाड़  आएगी या फिर बस जुमलों की बरसात ।

पंजाब  को वैसे तो किसी की दहाड़ ज़रुरत नहीं है।  इतिहास गवाह है कि पंजाबी शुरू से इस सब से झूझते आये हैं।  और  इस समस्या को भी सुलझाने का हौंसला भी रखते हैं।


आज हमें अगर किसी समस्या से झूझने  में दिक्कत आ रही है तो वो है अपने  सरकारी आतंकवादियों  से।
हम बम वाले आतंकवादियों से लड़ लेंगे, पर नशे में सने हुए इन  सरकारी आतंकवादियों की टोली से झूझना नामुमकिन सा लग रहा है।  अगर आप इतने ही शेर  हैं तो पहले नशा बेचने वाली सरकार को दहाड़ के दिखाइए न की उन्हें सम्मानित कीजिये।


आज पंजाब हर तरफ से घिरता जा रहा है, बेरोज़गारी, नशाखोरी, तालिबानी वाद, और ऐसे ही बहुत से वाद आने वाले हैं।  ये जो उग्रवाद के काले बादल छा रहे हैं, इन्हे हटाने के लिए कोशिश  तो कीजिये साहब, चाहे कोशिश नाकाम ही जाए, पर कम से कम कोशिश तो कीजिये। और हाँ जी एक गल  होर, इस वार 2017 के elections में हम जवाब ज़रूर देंगे।

सभी पंजाबियों से एक request है , अगर सरदार सिर्फ सरदार को वोट करेगा तो सब से अधिक नुक्सान सरदारों का ही होगा, और यही बात हिन्दू वोटर  पर भी लागू होती है।
वोट कबीले को नहीं काबिलियत को करें।





Post a Comment

Popular posts from this blog

New born girl - Not a Lakshmi for sure.

Black Money Interesting Facts - Funny

Indian Budget Highlights - 2017